सोमवार

आखिर हम किसके लिये कमाते है ?

at 00:29
मनोज जैसवाल : सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार। आपने अपने आसपास ऐसे कई लोगों को देखा होगा, जो जिंदगी भर मर-मर कर कमाते हैं. एक-एक रुपया जोड़ते हैं, महंगी चीजें नहीं खरीदते, पसंद का खाना नहीं खाते. सोचते हैं कि अभी मैं कमा लूं, बचत कर लूं ताकि बुढ़ापे में यह रुपया मेरे काम आयेगा. तब मैं ऐशो-आराम से रहूंगा। यह सोच अच्छी है. बचत करना भी चाहिए, लेकिन क्या यह बचत खुशियों के बदले करना सही है? यहां मैं अपने एक मित्र का उदाहरण देता हूँ। बचपन से लेकर जवानी तक उन्होंने खूब पढ़ाई की. वे बिल्कुल अपने पिताजी के नक्शे-कदम पर चल रहे थे. पिताजी की तरह कहीं भी फालतू रुपये बरबाद नहीं करते थे। उनकी सरकारी नौकरी भी लग गयी, वे और मेहनत करने लगे. दिन-रात फाइलों में लगे रहते. पत्नी-बच्चे कहते कि घर पर समय बिताओ. हमें घुमाने ले जाओ, तो वे एक ही जवाब देते. यह सब काम मैं तुम्हारे लिये ही तो कर रहा हूं। अभी रुपये जोड़ लूं ताकि बाद में हमें कोई परेशानी न हो। वैसे भी इधर-उधर घूमने-फिरने से रुपये बरबाद होंगे। 55 साल की उम्र में वे 75 के दिखने लगे। ज्यादा काम करने की वजह से उनकी तबीयत खराब होने लगी 60 साल की उम्र में वे रिटायर हो गये। इधर उनके बच्चों ने उनका साथ छोड़ दिया और दूसरे शहर में बस गये पत्नी का स्वर्गवास हो गया अब उनके पास ढेर सारे रुपये हैं, लेकिन उनकी घूमने-फिरने की उम्र जा चुकी है। बीमारी की वजह से वे कहीं नहीं जा सकते. दिन भर घर पर ही रहते है उदास और अकेले। यह सोचने का विषय है कि हम आखिर किसके लिये कमाते है? मर-मर कर जीने के लिए? हमें समझना होगा कि भविष्य के लिए बचत जरूरी है। लेकिन खुशियों के बदले नहीं इसे आजमायें, जब भी आपको सैलरी मिले या बिजनेस में मुनाफा हो। खुशियां मनायें. आधे रुपये बचत में डालें और आधे रुपयों से अपने पर लगाएँ महीने में कम-से-कम एक बार अपनी आत्मा को तृप्त करने के लिए कोई काम करें। शॉपिंग करें, अच्छे महंगे होटल में जाकर खाना खायें, मसाज, मेनिक्योर, पेडिक्योर करायें. वीकेंड मनाने कही जायें. होटल में बाथ टब में रिलैक्स करें। इस तरह आप काम करने के लिए खुद को तैयार भी कर लेंगे और इन्जॉयमेंट भी हो जायेगा।

manoj jaiswal


10 टिप्‍पणियां

  1. ज्ञानवर्धक पोस्ट धन्यवाद मनोज जी.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पोस्ट पर कमेन्ट के लिए आभार।

      हटाएं
  2. उत्तर
    1. पोस्ट पर कमेन्ट के लिए आभार।

      हटाएं
  3. बहुत अच्छी बात बतायी आपने ज्ञानवर्धक पोस्ट मनोज जी.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पोस्ट पर कमेन्ट के लिए आभार।

      हटाएं
  4. आप इस ब्लॉग को भी अच्छा मेंटेन कार रहें है बड़ी पते की बात कही आपने आखिर हमहार किसके लिये कमाते है.आभार

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पोस्ट पर कमेन्ट के लिए आभार।

      हटाएं
  5. उत्तर
    1. पोस्ट पर कमेन्ट के लिए आभार।

      हटाएं