शुक्रवार

देल्ही बेली पर पाकिस्तान में लगा प्रतिबंध

at 18:50
मनोज जैसवाल
फिल्म: डेल्ही बेली
कलाकार: इमरान खान, पूर्णा जगन्नाथन, वीर दास, कुणाल रॉय कपूर
निर्देशक: अभिनय देव
निर्माता: आमिर खान, रोनी स्क्रूवाला, किरण राव
रेटिंग: दो स्टार

आमिर खान की डेल्ही बेली में अपशब्दों को विस्तार रूप देकर प्रस्तुत किया गया है। फिल्म की भाषा अंग्रेजी शायद इसी विचार से रखी गयी है ताकि बेझिझक अपशब्दों का इस्तेमाल फिल्म में किया जा सके। चूंकि भारत में अंग्रेजी अपशब्द लोकप्रिय हैं और लोग इसका बुरा भी नहीं मानते। जाहिर है निर्देशक की सोच में कहीं से भी सिंगल स्क्रीन थियेटर के दर्शकों के लिए नहीं। फिल्म निस्संदेह बड़े शहरों के युवाओं को आकर्षित करेगी। जिस तरह के उच्चारण में अंग्रेजी में बात की गयी है, वह आम दर्शक वर्ग के समझ से बाहर है, लेकिन इसके बावजूद चूंकि फिल्म का शानदार तरीके से प्रोमोशन किया गया है। दर्शक फिल्म देखेंगे।

फिल्म तीन दोस्ती की कहानी है। नीतिन, ताशी और अरुप। अरुप कार्टूनिस्ट है। ताशी पत्रकार और नीतिन उसका फोटोग्राफर। नीतिन अपने दोस्तों में सबसे बिंदास, बेफिक्र रहनेवाला है। उसे सड़क किनारे के स्ट्रीट फूड पसंद है। उसकी यही आदत तीनों दोस्तों को मुसीबत में डाल देती है। ताशी की गर्लफ्रेंड इसी दौरान दृश्य में आती है। वह गैंगस्टर के चंगुल में फंस जाती है। नायक की तरह ताशी उसे छुड़ा ले जाता है, लेकिन फिर भी दोनों एक नहीं हो पाते।

डेल्ही बेली ने जिस तरह अपने र्प्रोमोशन में शीट हैप्नस का इस्तेमाल किया है। सच भी यही है कि फिल्म देखने के बाद आप यही महसूस करेंगे कि दुनिया की तमाम गंदगी कैमरे के सामने है। हिंदी सिनेमा में वाकई अब तक इतनी गंदगी का इस्तेमाल नहीं किया गया होगा। फिल्म के कुछ दृश्य को जान बूझ कर बोल्ड बनाने की कोशिश की गयी है। हिंदी सिनेमा में नये सोच, नये प्रयोगों के आधार पर अगर डेल्ही बेली को स्तरीय फिल्म माना जाता है तो भविष्य में अब निर्देशक बनने के लिए अपशब्दों का शब्दकोष भी कंठस्थ करना होगा।

अभिनय के दृष्टिकोण से फिल्म के सभी किरदारों ने अपना अभिनय बेहतरीन तरीके से निभाया है। खासतौर से पूर्णा जगन्नाथ में कई संभावनाएं हैं। साथ ही कुणाल के रूप में अच्छा अभिनेता हिंदी सिनेमा को मिला है। फिल्म परिवार के साथ बिल्कुल नहीं देखी जा सकती है। इन दिनों हिंदी सिनेमा में नया ट्रेंड शुरू हो चुका है। फिल्म में गीतों का सही तरीके से इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। एक लिहाज से यह अच्छा भी है।

कम से कम जबरन गाने दृश्य में नहीं डाले जा रहे। फिल्‍म के अंत में आमिर खान का आयटम सांग 'आइ हेट यू' बेहतरीन है। इसके अलावा फिल्म में किसी भी गाने को विस्तार रूप देकर नहीं दर्शाया गया, जिस गीत को फिल्म की यूएसपी मान कर दर्शकों के सामने प्रोमोशन के रूप में प्रस्तुत किया गया है, वह गीत फिल्म में केवल फीलर के रूप में ही इस्तेमाल किया गया है।
आमिर खान के चाहने वालों को उस समय तगड़ा झटका लगा जिस समय उन्हें खबर मिली की उनके चहेते सितारे आमिर खान की बहु प्रतिक्षित फिल्म देल्ही बेली आज हर देश में प्रदर्शित हो रही है लेकिन वो पाकिस्तान में रिलीज नहीं होगी। आमिर खान की इस फिल्म में गालियों और अशब्दों का प्रयोग बहुत ज्यादा है इसलिए ये पाकिस्तान में प्रदर्शित नहीं होगी। जिससे की पाकिस्तान में लोग जो कि आमिर खान को काफी पसंद करते हैं उन्हें काफी निराशा हुई है। कराची के सिनेमाहॉल एटरियम सिनेमा ने अपने फेसबुक पेज पर अपडेट किये मैसेज में बताया कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड, इस्लामाबाद ने आमिर खान की नई फिल्म "देल्ही-बेली"को पास नहीं किया है, जिसकी वजह से ये फिल्म पाकिस्तान में प्रदर्शित नहीं हो रही है।

आपको बता दें कि आमिर खान की होम प्रोडक्शन फिल्म देल्ही बेली आज देश और दुनिया के सभी सिनेमाघरों में प्रदर्शित हो गई है। फिल्म में इमरान खान लीड रोल में हैं। जबकि आमिर खान का एक आटम नंबर भी फिल्म में हैं। फिल्म का डी के बोस गाना काफी हॉट है। फिल्म वैसे भी एक सेक्स कॉमेडी है।

3 टिप्‍पणियां

  1. सुन्दर प्रस्तुति के लिए धन्यबाद मनोज जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेहद शानदार पोस्ट के लिए बधाई मनोज जी

    उत्तर देंहटाएं